Homeताज़ा खबरदिल्ली में दो साल से बेरोजगार, फ्लैट बेचने पर पत्नी की हत्या

दिल्ली में दो साल से बेरोजगार, फ्लैट बेचने पर पत्नी की हत्या

[ad_1]

दिल्ली में दो साल से बेरोजगार, फ्लैट बेचने पर पत्नी की हत्या

नई दिल्ली:

दक्षिणी दिल्ली के साकेत इलाके में अपना फ्लैट बेचने को लेकर 57 वर्षीय एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की कथित तौर पर हत्या कर दी। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि घटना शुक्रवार को हुई और इसके बारे में साकेत पुलिस स्टेशन में शाम करीब सात बजे एक पीसीआर कॉल आई।

पुलिस ने कहा कि शशि लता पांडे (52) पहली मंजिल के घर के बेडरूम के अंदर फर्श पर पड़ी मिलीं, जिसके शरीर पर कोई चोट नहीं थी।

पुलिस के मुताबिक, कॉल आरोपी चंदर मोहन पांडे के बड़े भाई के बेटे कपिल पांडे (42) ने की थी। वह अपने परिवार के साथ उसी इमारत के भूतल पर रहता है।

उसने पुलिस को बताया कि शाम करीब छह बजे उसके पास गाजियाबाद के इंदिरापुरम में रहने वाली उसकी एक मौसी का फोन आया और उसने उसे घर की पहली मंजिल पर जाने के लिए कहा क्योंकि चंद्र मोहन पांडे और उसकी पत्नी के बीच झगड़ा हो रहा था।

पुलिस ने कहा कि उसने अपने बेटे को वहां पहुंचने के लिए भी कहा।

कपिल पांडेय जैसे ही फ्लैट में पहुंचे और दरवाजा खटखटाया तो उनके चाचा ने दरवाजा खोला. पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) बनिता मैरी जैकर ने कहा कि उसके कपड़े खून से लथपथ थे और उसकी गर्दन के बाईं ओर गहरा कट था।

फिर आरोपी ने उसे यह कहते हुए पुलिस बुलाने के लिए कहा, “यह सब खत्म हो गया है”।

डीसीपी ने कहा कि कपिल पांडे ने एम्बुलेंस को फोन किया और इस बीच, उनकी चचेरी बहन भी ओखला से उनकी मां का फोन आने के बाद वहां पहुंच गई।

एक डॉक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया, जबकि चंदर मोहन पांडे को मैक्स अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया और उनका इलाज चल रहा है।

उनका बयान दर्ज नहीं किया जा सका क्योंकि वह फिट नहीं थे और उन्हें आईसीयू में स्थानांतरित कर दिया गया था, जैकर ने कहा।

क्राइम टीम को ड्राइंग रूम में खून से सना रसोई का चाकू मिला।

पूछताछ के दौरान मृतक के बेटे शिवम ने कहा कि जिस घर में वे रहते हैं, उसे लेकर उसके माता-पिता के बीच कुछ विवाद थे।

पुलिस ने कहा कि उसके पिता इसे बेचना चाहते थे, लेकिन मां रहना चाहती थी।

उन्होंने बताया कि चंदर मोहन पांडे कनॉट प्लेस के एक होटल के फ्रंट ऑफिस में काम करता था और पिछले दो साल से बेरोजगार होने के कारण डिप्रेशन में था.

पुलिस ने कहा कि भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया है और आगे की जांच जारी है।

.

[ad_2]

दिल्ली में दो साल से बेरोजगार, फ्लैट बेचने पर पत्नी की हत्या

नई दिल्ली:

दक्षिणी दिल्ली के साकेत इलाके में अपना फ्लैट बेचने को लेकर 57 वर्षीय एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की कथित तौर पर हत्या कर दी। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि घटना शुक्रवार को हुई और इसके बारे में साकेत पुलिस स्टेशन में शाम करीब सात बजे एक पीसीआर कॉल आई।

पुलिस ने कहा कि शशि लता पांडे (52) पहली मंजिल के घर के बेडरूम के अंदर फर्श पर पड़ी मिलीं, जिसके शरीर पर कोई चोट नहीं थी।

पुलिस के मुताबिक, कॉल आरोपी चंदर मोहन पांडे के बड़े भाई के बेटे कपिल पांडे (42) ने की थी। वह अपने परिवार के साथ उसी इमारत के भूतल पर रहता है।

उसने पुलिस को बताया कि शाम करीब छह बजे उसके पास गाजियाबाद के इंदिरापुरम में रहने वाली उसकी एक मौसी का फोन आया और उसने उसे घर की पहली मंजिल पर जाने के लिए कहा क्योंकि चंद्र मोहन पांडे और उसकी पत्नी के बीच झगड़ा हो रहा था।

पुलिस ने कहा कि उसने अपने बेटे को वहां पहुंचने के लिए भी कहा।

कपिल पांडेय जैसे ही फ्लैट में पहुंचे और दरवाजा खटखटाया तो उनके चाचा ने दरवाजा खोला. पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) बनिता मैरी जैकर ने कहा कि उसके कपड़े खून से लथपथ थे और उसकी गर्दन के बाईं ओर गहरा कट था।

फिर आरोपी ने उसे यह कहते हुए पुलिस बुलाने के लिए कहा, “यह सब खत्म हो गया है”।

डीसीपी ने कहा कि कपिल पांडे ने एम्बुलेंस को फोन किया और इस बीच, उनकी चचेरी बहन भी ओखला से उनकी मां का फोन आने के बाद वहां पहुंच गई।

एक डॉक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया, जबकि चंदर मोहन पांडे को मैक्स अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया और उनका इलाज चल रहा है।

उनका बयान दर्ज नहीं किया जा सका क्योंकि वह फिट नहीं थे और उन्हें आईसीयू में स्थानांतरित कर दिया गया था, जैकर ने कहा।

क्राइम टीम को ड्राइंग रूम में खून से सना रसोई का चाकू मिला।

पूछताछ के दौरान मृतक के बेटे शिवम ने कहा कि जिस घर में वे रहते हैं, उसे लेकर उसके माता-पिता के बीच कुछ विवाद थे।

पुलिस ने कहा कि उसके पिता इसे बेचना चाहते थे, लेकिन मां रहना चाहती थी।

उन्होंने बताया कि चंदर मोहन पांडे कनॉट प्लेस के एक होटल के फ्रंट ऑफिस में काम करता था और पिछले दो साल से बेरोजगार होने के कारण डिप्रेशन में था.

पुलिस ने कहा कि भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया है और आगे की जांच जारी है।

.

[ad_3]

Source link

संबंधित आलेख

सबसे लोकप्रिय